नेत्रदान महादान – यह एक ऐसा महादान है जो जिंदगी के साथ भी Eye donation- (Prof. RK Kothari – Vice Chancellor Rajasthan University )

नेत्रदान महादान – यह एक ऐसा महादान है जो जिंदगी के साथ भी, जिंदगी के बाद भी करके पुण्य कमाने का अवसर प्रदान करता है ।
Prof. RK Kothari – Vice Chancellor Rajasthan University प्रोफेसर आर के कोठारी (कुलपति राजस्थान विश्वविद्यालय) मैसेज संस्था द्वारा नेत्रदान पर एक संवाद युवाओं के साथ

नेत्रदान पखवाडा के तहत मैसेज संस्था द्वारा राजस्थान विश्वविद्यालय स्थित लाइफ लॉन्ग लर्निंग सेमिनार हॉल में एनएसएस कॉलेज विद्यार्थियों के मध्य नेत्रदान से जुड़ी भ्रांतियों के प्रति अवेयरनेस लाने हेतु कैंप का आयोजन किया गया । कार्यक्रम में राजस्थान विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर आर के के कोठारी ने मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए छात्रों से नेत्रदान जैसे मानवीय मूल्यों की स्थापना करने के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण कदम बताया यह एक ऐसा महादान है जो जिंदगी के साथ भी, जिंदगी के बाद भी करके पुण्य कमाने का अवसर प्रदान करता है ।
इस अवसर पर संस्था द्वारा फिल्म के माध्यम से नेत्रदान वह इससे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां दी गई । वह उपस्थित युवाओं से संवाद स्थापित करने की कोशिश की गई, जिससे उनके मन में नेत्रदान के प्रति जो भी भ्रांतियां थी उनको दूर करने का प्रयास किया गया, आई बैंक सोसायटी द्वारा प्रचार प्रसार सामग्री भी बार्टी गई । संस्था कन्वीनर पूर्णिमा कॉल के अनुसार इस मौके पर सामाजिक कार्यकर्ता रवि कामरा, पूर्व प्रिंसिपल महारानी कॉलेज अमला बत्रा , विश्वविद्यालय लाइफ लोंग लर्निंग के निदेशक डॉक्टर जयंत सिंह , विश्वविद्यालय एनएसएस प्रभारी डॉक्टर अभय उपाध्याय , प्रोफेसर सतीश शर्मा, वरिष्ठ पत्रकार दीपक गोस्वामी, सत्यजीत तालुकदार, सोशल वर्कर कमला चौधरी, कलाकार राजुला लूना सहित कई बुद्धिजीवी कार्यक्रम में उपस्थित थे।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.